Out Of Stock
Books for Daily Practice and Worship

Jivchchhradhapadhati (Hindi)

  • AuthorGita Press Gorakhpur
  • SKU1895
  • Language Note: Hindi
  • Time Status: 2000s -- 21st century
₹ 80.00

Shipping charges will be applied on the basis of your cart value.

भारतीय सोलह संस्कारोंमें अन्तिम मरणोत्तर संस्कार श्राद्धकर्मकी विशेष महत्ता है। इसके बिना जीवकी सद्ïगति नहीं होती। यद्यपि यह संस्कार पुत्रके द्वारा सम्पादित होता है, किन्तु आजके अनास्थाके वातावरणमें पले हुए कुछ पुत्र-पौत्र अपने माता-पिताके मरणोत्तर कर्मको सही ढंगसे सम्पादित नहीं करते हैं। जो पुत्रवान्ï नहीं हैं, उनकी तो बातही अलग है। प्रस्तुत पुस्तकमें जीवित श्राद्धकी शास्त्रीय व्यवस्थादी गयी है, जिसके माध्यमसे व्यक्ति अपने जीवित रहते ही मरणोत्तर क्रिया का सही सम्पादन करके कर्म-बन्धनसे मुक्त हो सके। 

  • Language Note: Hindi
  • Time Status: 2000s -- 21st century